निदेशक मंडल

 

श्री पंकज जैन
संयुक्‍त सचिव (आईएफ), वित्‍तीय सेवाएं विभाग 
श्री पंकज जैन केंद्र सरकार द्वारा जनवरी, 2016 से आगे के आदेश तक आईआईएफसीएल के निदेशक मंडल में सरकार के नामित निदेशक के तौर पर नियुक्‍त किए गये हैं। 
श्री पंकज जैन वर्ष 1990 बैच के एक आईएएस अधिकारी हैं जो वर्तमान में वित्‍तीय सेवाएं विभाग, वित्‍त मंत्रालय, भारत सरकार में संयुक्‍त सचिव के पद पर कार्यरत हैं1 वे श्री राम कॉलेज ऑफ कामर्स के पूर्व छात्र रहे हैं जहां उन्‍होंने वाणिज्‍य में स्‍नातक की डिग्री प्राप्‍त की उसके बाद एफएमएस, दिल्‍ली से एमबीए किया। वे भारतीय लागत लेखाकार संस्‍थान के सहयोगी के तौर पर लेखाकंन के विषय में पेशेवर योग्‍यता भी रखते हैं। उन्‍होंने असम एवं मेघालय सरकारों के लिए भी कार्य किया जिसमें सचिवालय एवं राज्‍य निगमों में ऊर्जा, योजना, सूचना प्रौद्योगिकी, आजीविका संवर्धन एवं उद्योग से संबंधित कार्यों के साथ शिलांग व तुरा के जिलाधिकारी के अलावा सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍ययम उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार में निदेशक के तौर पर कार्य भी शामिल है। उनके कार्य अनुभवो में अभिशासन सलाहकार एवं वरिष्‍ठ कार्यक्रम प्रबंधक के तौर पर ब्रिटिश इंटरनेशनल ऐड एजेंसी – अंतरराष्‍ट्रीय विकास विभाग (डीआईएफडी) के साथ तीन वर्ष का कार्यकाल भी शामिल है। उनकी अभिरूचियों के क्ष्‍ज्ञेत्र में बौद्धिक संपदा अधिकार शामिल है जहां उन्‍होंने भारतीय खिलौना उद्योग के लिए आईपीआर गाइड विकसित करने में यूनीडो (यूएनआईडीओ) के साथ सहयोग किया। वे भारत एवं बंगलादेश में लघु एवं मध्‍यम उद्योग द्वारा सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) अपनाने पर राष्‍ट्रमंडल सचिवालय एवं एशियाई उत्‍पादकता संगठन के सलाहकार भी रहे। रहे।
 

 

 

 

 

 

 

   
कुमार वी प्रताप,
 
सरकारी नामित निदेशक 
 
कुमार वी प्रताप, वित्त मंत्रालय, भारत सरकार में संयुक्त सचिव (अवसंरचना, नीति, वित्‍त एवं ऊर्जा) के पद पर कार्यरत हैं। इससे पूर्व उन्‍होंने प्रधान मंत्री कार्यालय, वित्‍त मंत्रालय, शहरी विकास मंत्रालय, योजना आयोग (सभी दिल्‍ली में) एवं वर्ल्‍ड बैंक व भारतीय दूतावास (दोनों वाशिंगटन डीसी में) में कार्य किया है। उन्होंने युनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन (एन आर्बर), लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स, सिंगापुर मैनेजमेंट यूनिवर्सिटी, ली कुआन यू स्कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी (सिंगापुर), ड्यूक यूनिवर्सिटी (नॉर्थ कैरोलिना), युनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड (कॉलेज पार्क), यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ कैरोलिना (कोलंबिया), वर्ल्‍ड बैंक (वाशिंगटन डीसी), इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ मैनेजमैंट (आईआईएम, लखनऊ), आईआईएम (इंदौर), एवं राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (मसूरी) में व्‍याख्‍यान भी दिया है। उन्होंने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस (हैदराबाद एवं मोहाली) में ‘अवसंरचना एवं निजी क्षेत्र' पर सालाना दस व्‍याख्‍यान दिये।
कुमार वी प्रताप, भारत सरकार की अवसंरचना क्षेत्र में अनेक समितियों का हिस्‍सा रहे हैं जिनमें सड़क नियामक स्‍थापित करने वाले कार्य बल एवं शहरी जल आपूर्ति क्षेत्र में जन-निजी भागीदारी (पीपीपी) के लिए रियायत करार का मॉडल लिखने वाली समिति का अध्यक्ष पद शामिल है।  उन्‍होंने इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनी लिमिटेड, भारतीय रेलवे वित्‍त निगम लिमिटेड, ओएनजीसी विदेश लिमिटेड एवं एशियन इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्‍टमैंट बैंक (बीजिंग) के निदेशक मंडल में भी कार्यभार ग्रहण किया है।
उनके लेख ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस, वर्ल्ड बैंक, मेलबोर्न यूनिवर्सिटी, आर्थिक एवं राजनीतिक साप्ताहिक व इकोनोमिक्‍स टाइम्‍स एवं बिजनेस स्टैंडर्ड सहित लोकप्रिय प्रकाशनों में प्रकाशित हुए हैं। उन्‍होंने हाल ही में अवसंरचना में पीपीपी – चुनौतियों का प्रबंधन करना’ नामक शीर्षक से एक पुस्‍तक भी लिखी है जिसका प्रकाशन वर्ष 2018 की शुरूआत में स्प्रिंगर (सिंगापुर) द्वारा किया जाएगा। उन्‍हें यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न की इमर्जिंग लीडर्स फैलोशिप, यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न की जॉन जे सेक्सटन व डॉक्टरेट फैलोशिप, भारतीय प्रधान मंत्री से प्रशंसा पत्र तथा राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा (एनटीएसई) स्‍कॉलरशिप भी प्राप्‍त हुआ है।

 

उन्‍होंने आईआईएम, लखनऊ से एमबीए (वर्ष 1987) एवं यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड, कॉलेज पार्क, यूएसए  से पीएचडी (वर्ष 2011) की है। 
   

श्री प्रवीण महतो 

सरकारी नामित निदेशक 

श्री प्रवीन महतो भारतीय आर्थिक सेवा के 1992 बैच के अधिकारी हैं। वे अर्थशास्‍त्र में स्‍नाकोत्‍तर हैं। वर्तमान में श्री महतो नीति आयोग में सलाहकार (पीएएमडी/पीपीपीएयू) के पद कार्यरत हैं1 इससे पूर्व वे तत्‍कालीन योजना आयोग एवं विकास आयुक्‍त (सूक्ष्‍म, लघु एवं मझोले उद्यम) कार्यालय में निदेशक के पद पर भी रहे।
   

श्री राजीव ऋषि

अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक नामित निदेशक 

श्री राजीव ऋषि ने दिनांक 01.08.2913 से सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक के तौर पर पदभार ग्रहण किया। इस कार्य से पूर्व वे इंडियन बैंक में कार्यपालक निदेशक थे जिसमें उन्‍होंने अक्‍तूबर, 2010 से प्रमुख के तौर पर जिम्‍मेदारी संभाली। 

श्री ऋषि ने इंडबैंक मर्चेंट बैंकिंग सर्विसेज लि.इंडफंड मैनेजमैंट लि. एवं इंड बैंक हाउसिंग लि. के निदेशक के तौर पर भी अपनी सेवाएं दीं। 

श्री राजीव ऋषि ने ओरिएंटल बैंक ऑफ कामर्स में दिनांक 12 मई, 1979 से परिवीक्षाधीन अधिकारी के तौर पर अपने बैंकिंग कैरियर की शुरूआत की। उन्‍होंने ओरिएंटल बैंक में विभिन्‍न पदों एवं विभिन्‍न स्‍थानों में तीन दशकों से भी अधिक समय तक कार्य किया। 

श्री ऋषि विभिन्‍न पदभार संभालते हुए विभिन्‍न वित्‍तीय संस्‍थानों से जुड़े हैं एवं वर्तमान में निम्‍नलिखित पदों पर विद्यमान हैं: 

-      इंडियन बैंक एसोएिशन के मानव संसाधन संबंधी स्‍थायी समिति के अध्‍यक्ष

-      बैंक के कर्मचारियों के वेतन संशोधन के लिए वार्ता समिति के अध्‍यक्ष

-      आई बी पी एस के संचालक मंडल के सदस्‍य

-      एनआईबीएम के संचालक मंडल के सदस्‍य

-      निदेशकइंडो जाम्बिया  बैंक लि.लुसाकाजाम्बिया

-      निदेशकभारतीय बैंकिंग एवं वित्‍त संस्‍थान 

श्री ऋषि विश्‍वविद्यानय के रैंक होल्‍डरराष्‍ट्रीय मेरिट स्‍कॉलर रहे हैं एवं पंजाब विश्‍ववि़द्यालचंडीगढ़ से विधि में स्‍नातक हैं। 

वे खेल-कूद के प्रबल समर्थक है एवं उन्‍होंने टेबिल टेनिस एवं नेशनल रोलर स्‍केटिंग मीट में चंडीगढ़ में अपने कॉलेज का प्रतिनिधित्‍व किया।
   
 
श्री सुनील मेहता
पंजाब नेशनल बैंक नामित निदेशक 

श्री सुनील मेहता ने 5 मई, 2017 को पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ के तौर पर कार्यभार ग्रहण किया।

पंजाब नेशनल बैंक में कार्यग्रहण करने से पूर्व वे कार्पोरेशन बैंक में डेढ वर्ष के लिए कार्यपालक निदेशक थे एवं उन्‍होंने सीएएसए जमा, गुणवत्‍तापरक ऋण, शाखा, एटीएम नेटवर्क एवं वैकल्पिक वितरण चैनल, ग्राहक अर्जन विशेष तौर पर आगामी पीढ़ी के ग्राहक एवं परिसंपत्ति की गुणवत्ता में बैंक के कार्य निष्‍पादन बढ़ाने के लिए रणनीतिक प्रयास किए।

उन्‍होंने अपने 35 वर्षों के कार्यकाल में शाखा एवं जोन के साथ-साथ प्रशासनिक कार्यालयों में विभिन्‍न क्षमताओं में कार्य किया एवं बैंकिंग के विभिन्न पहलु उदाहरणार्थ योजना, बजटीकरण, संसाधन संग्रहण एवं ऋण व्‍यापक अनुभव हासिल किया। उन्‍होंने अपने बैंकिंग कैरियर की शुरूआत मई, 1982 में इलाहाबाद बैंक के कृषि क्षेत्र अधिकारी के तौर पर की तथा वर्ष 2012 में बैंक में महाप्रबंधक बने।

वे वर्ष 2000 में इजरायल जाने वाले भारत सरकार के प्रतिनिधि मंडल के सदस्‍य भी रहे जिसका उद्देश्‍य अत्‍याधुनिक कृषि का विकासात्‍मक मॉडल का अध्‍ययन एवं भारत में इसके कार्यान्‍वयन की संभावना तलाशना था। उन्‍होंने दोनों बैंकों में योजना, संगठन ढांचा एवं कार्यान्‍वयन के संबंध में रणनीतिक निर्णय लेने वाले प्रमुख प्रबंधन दल के प्रमुख सदस्‍य के तौर कार्य किया।

श्री सुनील मेहता दो विषय यानि कृषि एवं व्‍यापार प्रशासन में स्‍नाकोत्‍तर हैं। वे भारतीय बैंकर्स संस्‍थान, मुंबई से सीएआईआईबी धारक भी हैं। उन्‍होंने आईआईएम, कोलकाता में प्रबंधन विकास कार्यक्रम, इंस्‍ताबुल, टर्की में यस बैंकद्वारा आयोजित विकासशील अर्थव्‍यवस्‍थाओं के सामने आ रही आर्थिक चुनौतियों पर संगोष्‍ठी एवं वाशिंगटन, यूएसए में सीएएफआरएएल उन्नत बैंक प्रबंधन कार्यक्रम में भाग लिया।